Fire at Vijay Vallabh Hospital Maharashtra: प्रत्यक्षदर्शी बोले-मरीज आग से मर रहे थे, नर्सें तमाशा देख रही थीं

महाराष्ट्र के विरार वेस्ट स्थित विजय वल्लभ अस्पताल के आईसीयू में आग लगने से 15 मरीजों की मौत हो गई। शुक्रवार तड़के ऐसी में धमाके के साथ निकली चिंगारी से पूरे वार्ड में आग लग गई। मरीजों के परिजनों का आरोप है कि आग लगने के दौरान आईसीयू में ना नर्स थी और ना ही डॉक्टर। अस्पताल प्रशासन को इस बारे में जब जानकारी मिली तब तक आग ने पूरे वार्ड को घेर लिया था।

Read More…………

Covid19 India: देश में कोरोना का नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में आए 3.32 लाख नए मरीज, 2256 की मौत

हादसे के वक्त आईसीयू में 15 मरीज वेंटिलेटर पर थे, जिनमें से 14 की मौत हो गई। एक चश्मदीद अविनाश पाटिल ने बताया कि आईसीयू में एडमिट एक मरीज का 3-4 लाख तक बिल बनता है लेकिन सुविधाओं के नाम पर कुछ नहीं मिलता। अस्पताल में फायर सेफ्टी सिस्टम तक नहीं थे। हादसे के वक्त आईसीयू में 15 मरीज थे और पूरे अस्पताल में 90 मरीज भर्ती थे। सूचना के बाद मौके पर पहुंची दमकलों से आग पर एक घंटे में काबू पाया जा सका। आग लगने की वजह एसी शॉर्ट सर्किट बोना बताया जा रहा है।  

आग लगने की घटना शुक्रवार तड़के 3 बजकर 25 मिनट की है। अस्पताल से निकलते धुएं के गुब्बार को देखकर अफरा तफरी मच गई। ऑक्सीजन सपोर्ट वाले 21 मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया है। आग लगने की घटना शुक्रवार तड़के 3 बजकर 25 मिनट की है। सीएम उद्धव ठाकरे ने आग लगने की घटना के जांच के आदेश जारी किए हैं। मरीजों के परिजनों का आरोप है कि जब आग लगी तो हॉस्पिटल का स्टाफ मरीजों को अंदर छोड़कर बाहर भाग गया।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US