Myanmar Security Forces open fire: म्यांमार में सुरक्षाबलों की फायरिंग से 89 प्रदर्शनकारियों की मौत

म्यांमार में शनिवार को ऑर्म्ड फर्सेज डे के मौके पर सुरक्षाबलों और प्रदर्शनाकरियों के बीच जबरदस्त झड़पें हुई है। असिस्टेंट एसोशियएशन फॉर पॉलिटिकल प्रिजनर्स ने शनिवार शाम तक firing in Myanmar आंकड़े जुटाकर बताया कि सुरक्षाबलों की गोलियों से 89 प्रदर्शनकारी मारे गए हैं। अमेरिका, ब्रिटेन और यूरोपियन यूनियन के अधिकारियों ने म्यांमार में शनिवार को हुई हिंसा की कड़ी निंदा की है। ब्रितानी राजदूत डेन चग ने एक बयान में कहा कि सुरक्षाबलों ने निहत्थे नागरिकों पर गोलियां बरसाई हैं।

Read More…..

Bengal Election 2021 Voting: शुभेंदु अधिकारी के भाई की गाड़ी पर हमला, टीएमसी छोड़ BJP में हुए थे शामिल

अमेरीकी दूतावास का कहना है कि सुरक्षाबल निहत्थे आम नागरिकों की हत्या कर रहे हैं। Myanmar Security Forces open fire से पहले सैन्य प्रमुख मिन आंग लाइंग ने शनिवार को टेलीविजन पर बयान देते हुए कहा कि वे लोकतंत्र की रक्षा करेंगे और वादा किया कि देश में चुनाव कराए जाएंगे। लेकिन चुनाव कब कराए जाएंगे। इस बारे में सैन्य प्रमुख मिन आंग लाइंग ने कुछ नहीं बताया है।

बता दें कि म्यांमार को बर्मा के नाम से भी पहचाना जाता है। ये देश साल 1948 में ब्रिटेन से आजाद हुआ और उसके अधिकतर वर्षों तक सैन्य शासन के अधीन रहा। बता दें कि इस साल फरवरी में सेना ने तख्ता पलट किया और सत्ता पर काबिज हो गई। उस समय से सेना विरोधी प्रदर्शनों में 400 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं। सरकारी टेलीविजन ने शुक्रवार को चेताया है कि लोगों को पिछले दिनों हुई मौतों से सबक लेना चाहिए। उन्हें सिर या पीछे से गोली लग सकती है। शनिवार को म्यांमार में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए हैं। सेना ने प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सख्ती से पेश आने के लिए पहले ही चेतावनी जारी की थी।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US