Ambedkar Jayanti 2021: अंबेडकर जयंती आज, जानिए 14 अप्रैल को क्यों मनाई जाती है बाबा साहेब की जयंती

हर साल 14 अप्रैल को पूरे देश में डॉ भीमराव अंम्बेडकर की जयंती मनाई जाती है। देश की आजादी से लेकर कानूनी संरचना को विकसित करने में उनकी अहम भूमिका थी। जिसका स्मरण लोग उनके जन्म दिवस पर करते हैं। भारतीय संविधान के जनक डॉ भीमराव अंबेडकर की जयंति पर सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है। देश की आजादी से लेकर कानून संरचना को विकसित करने में उनका बड़ा योगदान रहा है।। भारतीय संविधान की रचना करने वाले भीमराव अंबेडकर आजादभारत के पहले कानून और न्याय मंत्री बने। कलम की ताकत से दलित समुदाय को संविधान में स्थान दिया।

Read more…..

Coronavirus: Maharashtra में 15 दिन का मिनी लॉकडाउन, जानें क्या रहेगा खुला क्या बंद

अत्याचारों से लड़ने के लिए आगे आए डॉ भीमराव अम्बेडकर

भारतीय संविधान में एससी एसटी कानून बनाकर दलित समुदाय को लड़ने के लिए एक हथियार दिया। उसी की बदोलत रही कि निचले तबके को आज समानता के अधिकार के तहत हर वो चीज पाने का अधिकार है जो वो हासिल करने की इच्छा रखता है। भीमराव अम्बेडकर को दलितों के मसीहा के रूप में जाना जाता है। बाबा साहेब अंबेडकर खुद एक दलित थे। इसके चलते उन्हें बचपन से ही कई परेशानी का सामना करना पड़ा। खुद भीमराव अंम्बेडकर दलितों पर होने वाले अत्याचारों से काफी परेशान थे।

बाबा साहेब ने शिक्षा को बनाया हथियार

डॉ अम्बेडकर ने समाज का निचला तबका माना जाने वाला दलितों को शिक्षा को हथियार बनाने का पाठ पढ़ाया है। उनकी किताबों में स्कूल से लेकर कॉलेज तक शिक्षा पाकर समाज में फैले अंधेरे को दूर करने का संदेश दिया गया है। देश में जाति प्रथा,  भेदभाव जैसी कुरितियों को हटाने के लिए बाबा साहेब ने कई आंदोलन चलाए। दलित समुदाय से तालुक रखने वाले बाबा साहेब अम्बेडकर ने अपने बचपन में कई यातनाएं झेली थी, जिनका गहरा उसर उनके व्यक्तित्व पर पड़ा।

इस वजह से 14 अप्रैल को मनाई जाती है अंम्बेडकर जयंती

 डॉ. अम्बेडकर ने अपना पूरा जीवन सामाजिक बुराइयों जातिवाद और छुआछूत जैसी प्रथाओं से संघर्ष करते हुए बिताया। पूरे विश्व में उनके मानवाधिकार आंदोलन की पहचान आज भी बनी हुई है। भारत ही नहीं दुनिया के कई देशों में भीम राव अम्बेडकर जयंती को धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन को ज्ञान दिवस और समानता दिवस के रूप में भी मनाते हैं। बौद्ध विहारो में उनकी जंयती सेलिब्रेट की जाती है। इस दिन उनके विचारों, संघर्षों को याद किया जाता है। 14 अप्रैल को डॉ. बीआर अंबेडकर (Dr BR Ambedkar) के जन्मदिन को केंद्र सरकार ने सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है। 14 अप्रैल 2021 को अंबेडकर की 130 वीं जयंती मनाई जाएगी।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US