Baran में सांप्रदायिक बवाल से तनाव, पुलिस का लाठीचार्ज, धारा-144 लगाई

राजस्थान के बारां जिले के छबड़ा में रविवार को उपद्रव से तनाव का माहौल हो गया। दो समुदायों के बीच शनिवार से शुरू हुई चाकूबाजी ने रविवार को आगजनी, पथराव का रूप ले लिया। जमकर पत्थरबाजी के बीच 6 दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया। वहां पर खड़े वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया गया। कई दुकानों पर लूटपाट की घटना को भी अंजाम दिया गया। उपद्रव के दौरान बेकाबू हुई भीड़ को खदेड़ने के लिए पुलिस ने लाठियां बरसाई।

उपद्रव की घटना के बाद क्षेत्र में हालात तनाव पूर्ण हो गए। इसके बाद प्रशासन को शहर में धारा 144 लगानी पड़ी। इस घटना में घायल लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना से लोगों में आक्रोश इतना बड़ा कि थाने पहुंचकर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे। इसके बाद पुलिस ने तीनों आरोपितों फरीद, समीर और आबिद को अरेस्ट कर लिया। इस उपद्रव की शुरुआत शनिवार शाम से हुई। बताया जा रहा है कि कस्बे के धरनावदा चौराहे पर फलों के ठेले पर अहमदपुरा निवासी कमल सिंह फल खरीद रहे थे। तभी वहां पर किसी बात को लेकर फरीद, समीर और आबदि से उनकी आपसी कहासूनी हो गई।

इसके बाद तीनों युवकों ने चाकू से हमल कर दिया। कमल को बचाने आए एक दुकानदार पर भी हमला किया गया। रविवार को सुबह फिर से धरनावदा चौराहे पर लोगों की भीड़ जुट गई। दोनों समुदायों में फिर से पथराव शुरू हुआ तो भगदड़ मच गई। हालात इतने बदतर हो गए कि पूरे बाजार में तनाव हो गया। भीड़ ने दुकानों, वाहनों में आग लगा दी। पुलिस को लाठीचार्ज कर लोगों को हटाना पड़ा।