Bengal Election 2021: कद्दावर BJP नेता यशवंत सिन्हा टीएमसी में शामिल, वाजपेयी सराकर में रह चुके वित्त मंत्री ….

इस महीने के आखिर में चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश के विधानसभा चुनावों के लिए मतदान की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। चुनाव से पहले जीत सुनिश्चित करने के लिए राजनीतिक पार्टियां तैयारियों में जुटी है। पश्चिम बंगाल में इसी महीने विधानसभा के चुनाव होने हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम लिया है। उन्होंने करीब तीन साल पहले बीजेपी का साथ छोड़ दिाय था। खुद को दलगत राजनीति से अलग कर लिया था।

यशवंत सिन्हा ने कहा कि देश एक अद्भुत संकट से गुजर रहा है। इसके चलते उन्हों दोबारा राजनीति में आने का फैसला किया है। उन्होंने कोलाकात में तृणमूल कांग्रेस कार्यालय पहुंचकर पार्टी की सदस्यता ली है। 1998 में अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार में भी यशवंत सिन्हा वित्त मंत्री रह चुके हैं। 13 महीने बाद वायपेयी सरकार गिर गई। साल 1999 में फिर से वाजपेयी सरकार की वापसी हुई और सिन्हा को फिर से वित्त मंत्रालय का कार्यभार सौंपा गया।

इससे पहले सिन्हा 1960 में IAS के लिए चुने गए और पूरे भारत में उन्हें 12वां स्थान मिला।24 साल IAS की भूमिका निभाने के बाद वे 1984 में राजनीति में आए। 1990 में वे चंद्रशेखर की सरकार में वित्त मंत्री बने। गौरतलब है कि बंगाल विधानसभा की 295 सीटों पर 8 चरणों में चुनाव होने हैं। चुनावों के ऐलान के साथ ही बंगाल में राजनीतिक घमासान मचा है।