कृषि कानूनों को वापस ले सकती है केंद्र सरकार? ये वजह आई सामने, BJP नेता के बयान से गरमाया मामला

उत्तर प्रदेश, पंजाब और उत्तराखंड सहित कई राज्यों में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने हैं। इन चुनावों से पहले राजनीति दलों ने तैयारियां शुरू कर दी है। इस बीच पूर्व विधायक राम इकबाल सिंह ने कृषि कानूनों पर बड़ा बयान देकर नई बहस छेड़ दी है। बीजेपी की यूपी कार्यसमिति के सदस्य व पूर्व विधायक इकबाल ने तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी नीत केंद्र सरकार इन कानूनों को वापस ले सकती है।

Read More…….

Tokyo Olympics 2020: आज भारत लौटेंगे ओलंपिक मेडलिस्ट, दिल्ली में होगा सम्मान

रविवार रात बलिया जिले के नागरा में मीडिया से बात करते हुए पूर्व विधायक इकबाल सिंह ने कहा कि किसानों की मांगे सही है। विधानसभा चुनाव और किसानों में केंद्र सरकार के प्रति आक्रोश को देखते हए नरेंद्र मोदी सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस ले सकती है। उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शनों के चलते बीजेपी के नेता पश्चिमी उत्तर प्रदेश के गावों में नहीं जा रहे हैं। आगामी विधानसभा चुनावों के दौरान किसान संगठन बीजेपी नेताओं का घेराव कर सकते हैं।

इजराइल के जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस से कथित जासूसी कराने के मामले पर राम इकबाल सिंह ने कहा कि संसद में चल रहा गतिरोध दुर्भाग्यपूर्ण है।  उन्होंने कहा कि लोकतंत्रिक देश में विपक्ष की मांग पर विचार होना चाहिए। इकबाल सिंह ने कोरोना महामारी की तीसरी लहर से निपटने के लिए राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार द्वारा की गई तैयारियों पर भी सवाल खड़े किए हैं।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=U