Images Coronavirus: बूढ़ी मां के कदमों में टूटी जवान बेटे की सांसे, श्मशान घाटों पर शवों की कतारें

एक खबर जिसे आपको जानना जरूरी है। हमारा मकसद आपको डराना नहीं है बल्कि सच्चाई से अवगत कराना है। कोरोना की सुनामी से चिंता बढ़ती जा रही है। कोरोना से मौत के आंकड़े भयावह करने वाले हैं। अब श्मशान घाटों पर चिताएं ठंडी होने से पहले बुझाई जा रही है ताकि दूसरे अंतिम संस्कार किए जा सकें। कब्रिस्तानों में शवों दफनाने के लिए जगह तक नहीं बची है।

देश के अलग-अलग हिस्सों से आ रही तस्वीरों को देख आप खुद सरकारी सिस्टम से वाकिफ हो जाएंगे। विचलित करे वाली ये तस्वीरें अपनों के खोने का दर्द बयां कर रही है। जनता की बेबसी, मायूसी और दम तोड़ते सिस्टम की झलकियां हर किसी को बैचेन कर रही है।

Read More…..

Coronavirus: देश के 3 डॉक्टरों की राय, Remdesivir रामबाण नहीं, काफी कम मरीजों को इसकी जरूरत

तस्वीर पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी की है जहां जौनपुर के मडियांहू की रहने वाली बुजुर्ग मां अपने जवान बेटे का उपचार कराने के लिए अस्पातलों के चक्कर लगाती रही। लेकिन किसी का दिल नहीं पसीजा और बेटे को अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस तक नहीं दी। लड़खड़ाती सांसें अस्पतालों के चक्कर लगाते-लगाते बूढ़ी मां के बेटे ने आखिरकार दम तोड़ दिया।

फोटो पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता की है जहां कोरोना से जान गंवाने वाले मरीज के परिजनों को उसका आखिरी बार चेहरा तक देखने को नसीब नहीं हुआ। बार-बार परिजन शवों को देखकर रोते बिलखते रहे।

तस्वीर उत्तर प्रदेश के कानपुर की है जहां करीब हर कोविड अस्पताल में हर दिन 10-20 मौतें हो रही है लेकिन सरकारी आंकड़ों में पूरे जिले में केवल 10 से 15 मौत दर्ज हो रही है।

फोटो मुंबई शहर की है जहां श्मशान घाटों पर कोरोना से मारे गए शवों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है। कब्रिस्तानों में जगह फुल होने से बाहरी इलाकों में शवों को दफनाया जा रहा है।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US