Coronavirus in Rajasthan: देश के 15 राज्यों में सबसे नीचे राजस्थान का रिकवरी रेट

राजस्थान में अब तक कोरोना के 5 लाख 30 हजार 875 केस मिल चुके हैं। इसके चलते प्रदेश देश के सबसे ज्यादा संक्रमित राज्यों में 10वें पायदान पर है। लेकिन रिकवरी रेट के मामले में राजस्थान की स्थिति खराब है। यहां रिकवरी रेट 71 फीसदी है। दिल्ली, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल जैसे राज्यों में रोज आने वाले केसों की संख्या राजस्थान से भी ज्यादा है लेकिन वहां रिकवरी रेट 78 फीसदी से अधिक है। इस मामले में देश के सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित राज्यों में राजस्थान का 15वां स्थान है।

Read More…..

Lockdown in Karnataka: कर्नाटक में 14 दिनों का लॉकडाउन, जरूरी सेवाओं की छूट, सार्वजनिक परिवहन बंद

राजस्थान के 33 जिलों में से केवल 6 ही ऐसे हैं, जहां 80% या उससे ज्यादा का रिकवरी रेट है। इनमें नागौर, डूंगरपुर, भरतपुर, गंगानगर, जालौर और झुंझुनूं शामिल हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए गहलोत सरकार ने 18+ उम्र के लोगों को मुफ्त वैक्सीन लागने का फैसला किया है। प्रदेश में 18 साल से ज्यादा आयुवर्ग के 2.90 करोड़ लोगों को कोरोना टीका लग सकेगा। इसके चलते सीएम गहलोत ने 3 हजार करोड़ रुपये खर्च आने का दावा किया है।

आखिरकार लंबी जद्दोजहद के बाद गहलोत सरकरा ने 18 साल पार लोगों को फ्री वैक्सीन लगाने का ऐलान किया है। राज्य सरकार ने वैक्सीन का खर्च केंद्र से उठाने की मांग की थी। इसी खींचतान के कारण 1 मई से प्रस्तावित वैक्सीनेशन अकटा हुआ था। राजस्थान से पहले कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ फ्री वैक्सीनेशन का ऐलान कर चुका है। इसके अलावा, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, झारखंड और बिहार भी फ्री वैक्सीनेशन की घोषणा कर चुके हैं।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US