Coronavirus in Maharashtra: बिगड़ते हालात को देखते हुए महाराष्ट्र में केंद्र ने भेजीं 30 स्पेशल टीमें, पुणे में मदद को उतरी सेना

महाराष्ट्र में कोरोना महामारी का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। यहां कोरोना से बिगड़ते हालातों को देखते हुए केंद्र सरकार ने 30 विशेषज्ञ मेडिकल टीमें रवाना की है। कोरोना विशेषज्ञों की ये टीमें राज्यट में कोविड 19 से जूझ रहे अधिकारियों को कोरोना कंट्रोल के लिए रणनीति बनाने में मदद करेंगे। कोरोना महामारी को कंट्रोल करने के लिए रणनीति बनाने में कोरोना विशेषज्ञों की टीमें मदद करेंगी। इस बीच राज्य में वैक्सीन डोज खत्म होने की कगार पर है। राज्य सरकार का कहना है कि अब यहां केवल एक से दो दिन का ही स्टॉक बचा है।

Read More

Sachin Vaze ने NIA कोर्ट में फोड़ा लेटर बम, एक और मंत्री पर लगे वसूली के आरोप

प्रमुख सचिव (स्वास्थ्य) प्रदीप व्यास ने बताया कि बुधवार की सुबह तक राज्य में करीब 14 लाख वैक्सीन डोज थी। कई जिलों में आज या कल तक स्टॉक खत्म हो जाएगा। केंद्र सरकार को इस बारे में लिखित जानकारी दी गई है। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि राज्य को 40 लाख डोज एक सप्ताह में जरूरी है। हम हर रोज 4 से 5 लाख तक लोगों को कोरोना का टीका लगा रहे हैं। अगर कोरोना वैक्सीन नहीं मिली तो समस्या खड़ी हो सकती है।

महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने वैक्सीन की कमी का हवाला देते हुए केंद्र के सामने अपनी मांगें रखी है। इस पर केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि स्टॉक में वैक्सीन की कमी नहीं है। केंद्र ने महाराष्ट्र सरकार पर राजनीति करने का आरोप लगाया है।  महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों से हालात बेहद खराब हो गए हैं। वहां वीकेंड लॉकडाउन, नाइट कर्फ्यू लगाया जा चुका है।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US