Coronavirus in Rajasthan: पाबंदियों के बावजूद 7 दिन में 1 लाख नए केस मिले, 450 मरीजों की मौत

राजस्थान में कोरोना संक्रमण पाबंदियों के बावजूद तेजी के साथ फैल रहा है। पिछले 7 दिन के भीतर राज्य में कोरोना के 99,568 नए मामले मिले हैं। प्रदेश में 12 से 18 अप्रैल के बपीच संक्रमण की दर 14.80 फीसदी थी जो पिछले सप्ताह 19 से 25 अप्रैल तक 20.31 फीसदी जा पहुंची है। प्रदेश में कोरोना से बिगड़ते हालातों के बीच सरकार ने आज से राज्य में दो जिलों के बीच की आवाजाही पर सख्ती बढ़ा दी है। केवल शादी समारोह या इमरजेंसी सेवाओं में ही एक जिले से दूसरे जिले में निजी वाहनों से आवागमन कर सकते हैं।

Read More…..

Akshay Kumar की फिल्म ‘पृथ्वीराज’ को लेकर खुलासा, इस महाकाव्य पर आधारित है कहानी

सरकार ने किराना की दुकानों को सुबह 6 से 11 बजे तक खोलने की अनुमति दी है। राज्य में चिंता की बात ये है कि अब भी 1.36 लाख एक्टिव केस बने हुए हैं। पिछले 24 घंटे में राज्य की रिपोर्ट देखें तो हर पांचवा सैंपल कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। वहीं संक्रमण की दर बढ़कर 19.77 फीसदी जा पहुंची है। एक सप्ताह के भीतर प्रदेश मं कोरोना के 99,568 नए मामले मिले हैं और 450 लोगों की कोरोना से जान गई है।

गहलोत सरकार ने राजस्थान में 18 वर्ष से ज्यादा आयुवर्ग के सभी लोगों को कोरोना का टीका लग सकेगा। इस वैक्सीनेशन पर करीब 3000 करोड़ रुपये की धनराशि खर्च करने का राज्य सराकार ने फैसला किया है। आखिरकार लंबी जद्दोजहद के बाद गहलोत सरकार ने 18 साल पार लोगों को फ्री वैक्सीन लगाने का ऐलान किया है। राज्य सरकार ने इसका खर्च केंद्र से उठाने की मांग की थी। इसी खींचतान के कारण 1 मई से प्रस्तावित वैक्सीनेशन अकटा हुआ था।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US