Coronavirus in India: मद्रास HC की फटकार के बाद एक्शन में चुनाव आयोग, विजय जुलूस पर रोक, 2 मई को आने है नतीजे

देश इस वक्त कोरोना महामारी से जूझ रहा है। कोरोना से निपटने में सरकार पूरी तरह से फैल दिख रही है। बढ़ते कोरोना मामलों के बीच ऑक्सीजन और बेड के पसरे संकट को लेकर लोग एक दूसरे की मदद करने में लगे हुए हैं। भारत में कोरोना महामारी की दूसरी लहर का प्रकोप तेजी के साथ फैल रहा है। लेकिन घातक बीमारी के खिलाफ लड़ाई में देश अकेला नहीं है। भारत को संकट की स्थिति से बाहर निकालने के लिए कई देश आगे आए हैं।

 इसी कड़ी में अमेरिका की शीर्ष 40 कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों ने भी मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। इन 40 अमेरिकी कंपनियों के सीईओ ने एक वैश्विक टास्क फोर्स बनाई है ताकि भारत की दद केलिए संसाधन जुटाए जा सकें। डेलोइट के सीईओ पुनीत रंजन ने कहा कि यूएस चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स की यूएस इंडिया बिजनेस काउंसिल और यूएस-इंडिया स्ट्रैटेजिक एंड पार्टनरशिप फोरम की सोमवार को यहां मीटिंग हुई। इस बैठक में एकता की मिशाल के तौर पर बनी टास्क फोर्स ने अगले कुछ हफ्तों में भारत में 20 हजार ऑक्सीजन मशीनें भेजने की बात कही है।

Read More……

Lockdown in Karnataka: कर्नाटक में 14 दिनों का लॉकडाउन, जरूरी सेवाओं की छूट, सार्वजनिक परिवहन बंद

कोरोना महामारी के मौजूदा दौर को देखते हुए यह वैश्विक टास्क फोर्स भारत को अहम चिकित्सा सामान, टीके, ऑक्सीजन और अन्य जीवन रक्षक सहायता मुहैया कराएगा। वैश्विक टास्क फोर्स को लेकर अमेरिका के विदेश मंत्री टोनी ब्लिकंन ने अपनी प्रतिक्रिया दी। ब्लिंकन ने ट्वीट कर कहा कि यह बातचीत दिखाती है कैसे भारत के करोना संकट के समाधान के लिए अमेरिका और भारत अपनी विशेषज्ञता का लाभ उठा सकते हैं।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US