Sedition Case: हरियाणा में किसानों का भारी विरोध, राजद्रोह के मामले में कर जता रहे विरोध

हरियाणा के सिरसा में शनिवार को किसानों ने देशद्रोह के एक मामले और उसके बाद हुई गिरफ्तारी के खिलाफ प्रदर्शन शुरू किया। इस दौरान भीड़ ने पुलिस बैरिकेड्स को गिरा दिया। किसानों के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए अर्धसैनिक बलों की भारी तैनाती की गई। इस 11 जुलाई को बीजेपी नेता और हरियाणा विधानसभा के उपाध्यक्ष रणबीर गंगवा पर कथित तौर से हमला करने के आरोप में गुरुवार को छापेमारी कर 5 किसानों पर देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

Read More……

Russian Plane Missing: साइबेरिया में रूसी विमान हाईजैक या लापता, कम से कम 13 लोग हैं सवार

दिल्ली से करीब 250 किलोमीटर दूर सिरसा हाई अलर्ट पर है। किसान नेता गिरफ्तार लोगों की रिहाई की मांग कर रहे हैं। वे पुलिस अधीक्षक कार्यालय का घेराव करने की भी योजना बना रहे हैं। भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत के भी धरने में शामिल होने की संभावना है। रविवार को  विवादास्पद कृषि कानूनों के विरोध में बीजेपी के रणबीर गंगवा पर कथित तौर से हमला किया गया था और उनके आधिकारिक वाहन को क्षतिग्रस्त कर दिया गया था।

100 से अधिक किसानों को देशद्रोह के आरोपों का सामना करना पड़ा है।  इनमें से पांच को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया गया। माना जा रहा है कि नवंबर के अंत से विवादास्पद कानूनों का विरोध कर रहे किसानों पर पहली बार देशद्रोह का आरोप लगाया गया है। हाल में संयुक्त किसान मोर्चा ने आरोपों की निंदा की, उन्हें झूठा, तुच्छ और पका हुआ कहा है। मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना ने इसी सप्ताह सवाल किया कि राजद्रोह कानून एक औपनिवेशिक कानून है। क्या हमें आजादी के 75 साल बाद भी हमारे देश में कानून की जरूरत है।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US