Fire in Shatabdi Express today: 7 दिन में दो शताब्दी ट्रेनों में लगी आग, ये बड़ी वजह आई सामने

दो सप्ताह के भीतर दो शताब्दी ट्रेनों में आग की घटना ने ट्रेनों की सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए हैं। लोगों के मन में सवाल उठ रहे हैं कि आखिर क्या वजह है कि शताब्दी जैसी सुरक्षित ट्रेनों में 7 दिन में दो आग की घटनाएं सामने आ चुकी है। हालांकि, दोनों घटनाओं में किसी तरह का कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ है।देहरादून शताब्दी ट्रेन में आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट बताया गया था।

जांच कमेटी की रिपोर्ट में बताया गया कि आग लगने की वजह टॉयलट में स्मोकिंग करना था। दूसरी तरफ 20 मार्च शनिवार को गाजियाबाद स्टेशन में नई दिल्ली-लखनऊ शताब्दी ट्रेन के लगेज बोगी में आग लगने की घटना से अफरातफरी मच गई है। हालांकि इस घटना को लेकर अभी कोई खुलासा नहीं हुआ है। आग कैसे लगी इन कारणों की जांच के लिए रेलवे विभाग की टीम सक्रियता के साथ लगी हुई है। 

ट्रेनों आग लगने के पीछे तकनीकी या फिर बाहरी कारण होते हैं। तकनीकी कारणों में एक्सल का लॉक होना, शोर्ट सर्किट और ब्रेक बाइडिंग हो सकता है। वहीं बाहरी कारणों में यात्रियों की तरफ से पटाखे या ज्वलनशील पदार्थ लेकर सफर करना हो सकता है। शताब्दी एक्सप्रेस में आग लगने की घटना को लेकर रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। पीयूष गोयल ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि रेल यात्रियों को ट्रेनों में स्मोकिंग से होने वाले नुकसान को लेकर जागरूक किया जाए।ऐसा करने से भविष्य में किसी बड़ी घटना से बचा जा सकेगा।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US