Covid 19 Vaccine: कोवीशील्ड पर बड़ा फैसला, एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन दूसरे देशों को नहीं देगा भारत,

भारत में कोरोना वायरस खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। केंद्र सरकार अब एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन दूसरे देशों को नहीं देगी। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, घरेलू टीकाकरण पर फोकस करने के लिए ये फैसला लिया गया है। देश में एस्ट्राजेनेका ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कोवीशील्ड के नाम से तैयार कर रह है। मामले से जुड़े एक्सपर्ट की मानें तो वैक्सीन के निर्यात पर कोई रोक नहीं लगाई गई है। लेकिन दूसरे देशों को वैक्सीन घरेलू सप्लाई के आकलन के बाद ही की जाएगी। वैक्सीन का एक्सपोर्ट विदेशों में डोमेस्टिक प्रोडक्शन पर भी निर्भर करेगा। 

बताया जा रहा है कि सरकार की प्राथमिकता देश के लोगों को कोरोना टीका लगाना है। देश में वैक्सीन प्रोडक्शन की क्षमता बढ़ी है। इसके साथ ही दो वैक्सीन (कोवीशील्ड और कोवैक्सिन) को इमरजेंसी यूज के लिए अप्रूवल भी दिया गया है। हाल में मंगलवार को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि अब 45 साल से ऊपर के लोगों कोरोना टीका लगाने का ऐलान किया था। अब नियम सिर्फ सरकारी कर्मचारियों के लिए नहीं है बल्कि अब 45 साल पार कर चुके लोगों को भी कोरोना की खुराक दी जाएगी। गौरतलब है कि अब तक 45 से 60 साल के बीच सिर्फ गंभीर बीमारियों वाले लोगों को ही वैक्सीन लगाई जा रही थी।

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि लोगों को सिर्फ अपना पंजीकरण कराना होगा। इसके बाद उन्हें आसानी से सरकारी और प्राइवेट सेंटर्स पर टीका मिल जाएगा। जावड़ेकर ने कहा कि अब तक पूरे देश में 4.85 करोड़ लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा चुका है। इनमें 80 लाख लोगों को टीके की दोनों डोज दी जा चुकी है। वहीं केंद्र सरकार ने Covishield की 2 खुराकों के बीच के अंतराल को बढ़ा दिया है।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US