India Pakistan : पाकिस्तान को 73 साल में 4 युद्धों में हराया, रिश्तों में सुधार के संकेत

भारत और पाकिस्तान के बीच रिश्ते सुधारने की दिशा में कई कोशिशें हो चुकी हैं। ढाई साल में पहली बार पाकिस्तानी अफसरों का दल दिल्ली पहुंचा। मंगलवार को सिंधु नदी जल बंटवारे पर स्थायी आयोग की दो दिवसीय बैटक शुरू हुई। भारतीय अफसरों का कहना है कि इस बैठक के साथ ही दोनों देशों के संबंध पटरी पर लाने की खिड़की खुली है। 

पुलवामा हमले के बाद बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद यह पहला मौका है जब पाकिस्तान और भारत के अधिकारी एक टेबल पर मुलाकात कर रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अभी बहुत कुछ करना बाकी है। शंघाई सहयोग संगठन के बैनर तले पाकिस्तान के पब्बी इलाके में आतंकवाद रोकने वाला युद्धाभ्यास होगा। भारतीय सेना भी उसमें शामिल होगी। हालांकि, इस बारे में अभी सरकारी तौर से ऐलान नहीं हो सका है। लेकिन इस कार्यक्र से भारत पीछे नहीं हटेगा।

वजह ये भी है कि SCO शंघाई सहयोग संगठन के रूस के लिए प्रतिष्ठा का सवाल है और भारत मॉस्को को नाराज होते नहीं देखना चाहता। लिहाजा भारत-पाकिस्तान के विभाजन के विभाजन के बाद इतिहास में पहली बार भारतीय सेना पाकिस्तान मं किसी दोस्ताना अभ्यास में शामिल होगी। भारत और पाकिस्तान को बातचीत की पटरी पर लाने में यूएई और सऊदी अरब ने भूमिका निभाई है। 25 फरवरी को दोनों देशों के सैन्य संचालन महानिदेशकों ने हॉटलाइन पर बातचीत की थी। इस मीटिंग में तय हुआ था कि सीमा पर सीजफायर की घटना नहीं चाहिए। तब से दोनों तरफ की तोपें शांत है।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US