Coronavirus in India: PM मोदी की राय से देश के एक्सपर्ट सहमत, सरकार से लड़ाई में कहां हुई चूक

देश में कोरोना की रफ्तार तेजी के साथ बढ़ रही है। पिछले हफ्ते से हर दिन आ रहे 2 लाख 50 हजार से ज्यादा मालों से कई राज्यों में लॉकडाउऩ लगाया गया है। एक तरफ चुनावी रैलियों के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने भी मामले की गंभीरता को समझतु हुए राष्ट्र के नाम एक संदेश जारी किया है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन को अंतिम विकल्प के तौर पर ही उपयोग किया जाए। देशभर में कोरोना वायरस से उपजे हालातों के मद्देनजर लॉकडाउन को लेकर सरकार की क्या राय है।

Read More…..

Coronavirus: देश के 3 डॉक्टरों की राय, Remdesivir रामबाण नहीं, काफी कम मरीजों को इसकी जरूरत

कोरोना महामारी को रोकने के लिए एक्सपर्ट देश में लॉकडाउन ना लगाने पर एकमत है। लॉकडाउन की बजाय बेवजह घरों से बाहर ना निकले जैसी पाबंदियों पर सख्ती की जरूरत। केंद्र सरकार हेल्थ सर्विसेज सुधारने मं चूक हुई है। सालभर में इस तरफ कोई बड़ा कदम नहीं उठाया गया है। यूरोप की तर्ज पर सोशल सिक्योरिटी वेजेज देना चाहिए। जिससे आमजन में जिम्मेदारी की भावन जागे।

बता दें कि बंगाल विधानसभा चुनाव के खत्म होने के बाद केंद्र सरकार कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए 30 अप्रैल को कोई बड़ा फैसला ले सकती है। बंगाल चुनाव के बाद केंद्र कुछ ऐसे फैसलों को लागू करना चाहती है जिससे कोरोना पर काबू पाया जा सके और अर्थव्यवस्था के हालात सुझारे जा सके। इसके लिए नया मॉडल तैयार किया जा रहा है।  सरकार इस बार नई रणनीति पर काम कर रही है। इसके तहत संक्रमण की रफ्तार पर काबू पाने के लिए चार महीने में करीब 40 करोड़ लोगो को टीके का सुरक्षा कवच मिल जाएगा।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US