PM Modi Mann ki baat: राहुल गांधी बोले, देश को मन की बात की नहीं मदद की जरूरत

देश में कोरोना वायरस तेजी के साथ फैल रहा है। कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या से स्वास्थ्य व्यवस्थाएं चरमरा गई है। कोरोना संक्रमण की तीव्रता के बीच पीएम मोदी ने रविवार सुबह 11 बजे मन की बात कार्यक्रम के तहत देश के नाम संबोधन दिया। वहीं पीएम मोदी के मन की बात कार्यक्रम पर कांग्रेस ने निशाना साधा है। रविवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से राजनीतिक काम छोड़कर लोगों की मदद करने की अली की है।

पीएम मोदी ने कहा कि हमें दवाई और कड़ाई दोनों का ध्यान रखने की जरूरत है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा कि सिस्टम फेल है। इसलिए जनहित की बात करना जरूरी है। कोरोना संकट में देश को जिम्मेदार नागरिकों की जरूरत है। कांग्रेस साथियों से अपील है कि सारे राजनीतिक काम छोड़कर सिर्फ जन सहायता करें। मन की बात कार्यकर्म में पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना की चेन तोड़ने के लिए वैक्सीन लगाना आवश्यक है। दवाई के साथ कड़ाई के मंत्र को नहीं भूलना चाहिए।

इलाज के लिए अस्पतालों में बेड नहीं बचे हैं। ऑक्सीजन सहित अन्य मेडिकल सुविधाओ की कमी से मरीजों की सांसे उखड़ रही है। इस बीच पीएम ने ऑक्सीजन की किल्लत और रेमडेसिविर पर चर्चा की है। इस समय हमें कोरोना की लड़ाई को जीतने के लिए विशेषज्ञों और वैज्ञानिकों की सलाह को प्राथमिकता देनी है। राज्य सरकार के प्रयत्नों को आगे बढ़ाने में भारत सरकार पूरी शक्ति से लगी हुई है।