Nashik Oxygen leak: परिजन बोले 2 घंटे बंद रही ऑक्सीजन, आंखों के सामने तड़पते रहे मरीज

महाराष्ट्र के नासिक के जाकिर हुसैन अस्पताल में बुधवार दोपहर को ऑक्सीजन सप्लाई रोकने से 22 मरीजों की मौत हो गई। कई लोगों की हालात अब भी गंभीर बनी हुई है। परिजनों का कहना है कि सप्लाई 30 मिनट नहीं बल्कि 2 घंटे तक बंद थी। एक परिजन बोला मेरी बहु ने आंखों के सामने तड़प-तड़पकर दम तोड़ दिया। लेकिन अस्पताल प्रशासन हाथ पर हाथ धरे बैठा रहा। एक मरीज के भाई ने बताया कि हमने हमारे परिवार का एक सदस्य खो दिया। इसका कौन जिम्मेदार होगा। दोपहर 12.30 बजे अचानक ऑक्सीजन सप्लाई बंद हो गई और मेरा भाई तड़प-तड़पकर मर गया।

Read More…..

Oxygen leakage: नासिक के अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई रोकी, 22 मरीजों की मौत, 35 की हालत गंभीर

दो घंटे तक ऑक्सीजन बंद रखी गई। अगर ऑक्सीजन होती तो मेरा भाई जिंदा होता। अस्पताल प्रशासन का कहना है कि ऑक्सीजन टैंकर में लीक होने पर 30 मिनट के लिए सप्लाई रोकी गई। अस्पताल प्रशासन का कहना है कि ऑक्सीजन टैंकर में लीक होने पर 30 मिनट के लिए सप्लाई रोकी गई। इस हादसे में जान गंवाने वाले सभी कोरोना मरीज थे। महाराष्ट्र सरकार ने ऑक्सीजन सप्लाई बंद होने से 22 मरीजों की मौत को लेकर जांच शुरू कर दी है।

नासिक के इस अस्पताल में ऑक्सीजन टैंक लीक होने से सप्लाई को बंद करना पड़ा। इससे करीब 22 मरीजों की मौत हो गई। अभी 30 मरीजों की हालात नाजुक बनी हुई है। अस्पताल में जिस समय ऑक्सीजन सप्लाई रोकी गई उस वक्त 171 मरीज ऑक्सीजन पर और 67 मरीज वेंटीलेटर पर थे। ऑक्सीजन सप्लाई अचानक रूकने से अस्पताल में अफरा-तफरी का माहौल हो गया।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US