New CJI India: जस्टिस NV रमना होंगे नए मुख्य न्यायाधीश, सरकार से CJI बोबडे ने की सिफारिश

सुप्रीम कोर्ट के सीजेआई एसए बोबडे ने देश के अगले मुख्य न्यायाधीश के रूप में एनवी रमना की सिफारिश केंद्र सरकार के पास भेजी है। जस्टिस रमना भारत के 48वें चीफ जस्टिस होंगे। सीजेआई बोबडे का कार्यकाल 23 अप्रैल को खत्म होने जा रहा है। अगर सरकार बोबडे की सिफारिश मान लेती है तो 24 अप्रैल को जस्टिस रमना सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के पद की शपथ लेंगे।

अमरावती जमीन घोटाले में भी उनके परिवार के कुछ सदस्यों की भूमिका का आरोप लगाया जा रहा था। उनके नाम की सिफारिश से साफ है कि चीफ जस्टिस ने शिकायत को खारीज कर दिया है।  27 अगस्त 1957 को आंध्र प्रदेश के पोनावरम में जन्मे जस्टिस रमना अपने शांत स्वभाव के लिए पहचाने जाते हैं। साल 2014 में सुप्रीम कोर्ट में अपनी नियुक्ति से पहले वह दिल्ली हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रहे। चीफ जस्टिस के तौर पर उनका कार्यकाल 26 अगस्त 2022 तक रहने वाला है। इसके चलते वे 16 महीने तक सीजेआई के पद पर बने रहेंगे।

बीते कुछ सालों में जस्टिस रमना का सबसे चर्चित फैसला जम्मू कश्मीर में इंटरनेट की बहाली को लेकर दिया। चीफ जस्टिस के कार्यालय को सूचना अधिकार कानून के दायरे में लाने का फैसला देने वाली बेंच के भी जस्टिस रमना सदस्य रह चुके हैं।  बता दें कि जस्टिस एनवी रमना का जन्म 27 अगस्त 1957 को आंध्र प्रदेश में कृष्ण जिले के पोन्नवरम गांव में हुआ था। वे पहली बार 10 फरवरी 1983 को वकील बने। 27 जून 2000 को आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट के स्थायी जज के पद पर नियुक्त हुए। इसके बाद 2013 में आंध्रप्रदेश हाईकोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश के रूप में कार्य किया। 

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US