Oxygen Crisis: दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार को लगाई फटकार, ऑक्सीजन संकट पर लताड़ा

देश में कोरोना महामारी को लेकर हाहाकार मचा है। संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों से सरकारों के पसीने छूट रहे हैं। स्वास्थ्य सेवाएं बुरी तरह से चरमरा गई है। अस्पतालों में बेड, दवाओं और ऑक्सीजन की किल्लत मची है। मंगलवार को दिल्ली हाईकोर्ट में ऑक्सीजन आपूर्ति को लेकर सुनवाई हुई। कोर्ट ने एक बार फिर ऑक्सीजन की किल्लत को लेर केंद्र सरकार को फटकार लगाई है। अदालत ने केंद्र से कहा कि आप आंखे मूंद सकते हैं लेकिन हम नहीं।

Read More……

Coronavirus India: 24 घंटे में कोरोना केस में आई गिरावट, देश के 7 राज्यों में कम हुए मामले

दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा कि आज पूरा देश ऑक्सीजन के लिए रो रहा है। अगर आप ऑक्सीजन आपूर्ति का सहित प्रबंधन नहीं हो रहा है तो आप IIT और IIM को क्यों नहीं जिम्मेदारी सौंपते। अगर IIT और IIM को ऑक्सीजन आपूर्ती की जिम्मेदारी सौंपी जाती है तो आप से ज्यादा बेहतर काम करेंगे। हाईकोर्ट ने केंद्र को बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने आपको 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति दिल्ली को करने के लिए कहा है। अगर आप यह आपूर्ति नहीं करते हैं तो यह कोर्ट की अवमानना होगी।

कोरोना संकट के बीच केंद्र सरकार का दावा है कि ऑक्सीजन की देश में कोई कमी नहीं है। । ऐसे में सवाल ये खड़ा होता है कि फिर ऑक्सीजन जा कहां रही है?  ऑक्सीजन लेने के लिए 2-2 दिन से लोग कतारों में लगे हुए हैं। लेकिन फिर भी लोगों का नंबर नहीं आ रहा है। कई अस्पतालों ने हाथ खड़े कर दिए हैं कि हमारे पास मरीजों के लिए ऑक्सीजन नहीं है। अस्पताल परिजनों को ऑक्सीजन के लिए दौड़ा रहे हैं।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US