Protest in Pakistan: फ्रांस के राजदूत के विरोध में उतरे हजारों पाकिस्तानी, जानें पूरा मामला

पाकिस्तान में हजारों लोग सड़कों पर उतर आए। अपने नेता की गिरफ्तारी के बाद सोमवार को इस्लामवादी निंदा विरोधी पार्टी के हजारों कार्यकर्ताओं ने फ्रांसीसी राजदूत को पाकिस्तान से बाहर निकालने की मांग को लेकर विरोध-प्रदर्शन किया। इस दौरान पुलिस ने आंदोलकारी भीड़ पर आंसू गैस के गोले दागे। पिछले कई महीनों से पाकिस्तान में फ्रांस के विरोध में लोगों में आक्रोश पनप रहा है।

Read More…..

Nahargarh Biological Park: बायोलॉजिकल पार्क बना पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र, घूमने जाने से पहले जान लें ये बातें

फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन की सरकार द्वारा पैंगबर मोहम्मद के चित्र वाले कार्टून को फिर से प्रकाशित करने के अधिकार के लिए समर्थन दिए जाने के बाद हुआ है। इस कार्टून को लेकर कई मुस्लिम समुदाय के लोग निंदा कर चुके हैं। पार्टी कार्यकर्ताओं ने कहा कि तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान के नेता साद रिजवी को सोमवार को लाहौर में हिरासत में लिया गया। पुलिस की ओर से उनकी गिरफ्तारी को लेकर पुष्टि की गई, लेकिन इसका खुलासा नहीं किया गया कि किस आरोप में उनको अरेस्ट किया गया है।

प्रदर्शनों के बीच फ्रांसीसी राजदूत को निष्कासित करने के लिए 20 अप्रैल को राजधानी इस्लामाबाद में मार्च आयोजित करने की कोशिश कर रहा था। रिजवी फायरब्रांड मौलवी के बेटे हैं। लाहौर की सड़कों और चौराहों पर हजारों प्रदर्शनारियों को खदेड़ने के लिए पुलिस ने आंसू गैस और पानी की बैछारों का इस्तेमाल किया। बीते साल टीएलपी समर्तकों ने फ्रांस के विरोध में रैलियां निकाली। इसके साथ ही राजधानी को तीन दिन के लिए चक्का जाम कर दिया था। टीएलपी नेता ने कहा कि रिजवी की गिरफ्तारी का मतलब है कि सरकार ने फ्रांसीसी राजनयिक को निष्कासित करने के समझौते का उल्लंघन किया था।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US