Antilia Case: अनिल देशमुख के इस्तीफे पर क्या बोले NCP चीफ शरद पवार

एंटीलिया केस के बीच महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख भ्रष्टाचर के आरोपों से घिरे हुए हैं। अब देशमुख के बचाव में एनसीपी चीफ sharad pawar उतर आए हैं। पवार ने कहा कि यह सारी चीजें पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने इसलिए बोलीं क्योंकि उनका ट्रांसफर कर दिया गया है। पवार ने कहा कि हमें डॉक्यूमेंट्री एविडेंस मिले हैं कि अनिल देशमुख 6 फरवरी से 15 फरवरी तक नागपुर के एक मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल में एडमिट थे।

Read More….

Upcoming film: इस फिल्म में नजर आएंगी दीपिका पादुकोण, अमिताभ बच्चन निभा सकते हैं किरदार

16 फरवरी से 27 फरवरी तक वे नागपुर में ही होम क्वारेंटाइन पर रहे। जबकि परमबीर सिंह के पत्र में दावा किया है कि फरवरी मध्य में सचिन वझे और अनिल देशमुख के बीच उनके मुंबई स्थित बंगल पर मीटिंग हुई थी। sharad pawar ने देशमुख के इस्तीफे पर भी गोलमोल जवाब दिया। उन्होंने कहा कि यह CM साहब का अधिकार है कि वे इस्तीफा लेते हैं या नहीं। पवार ने कहा कि उन्हें ATS पर पूरा भरोसा है। जांच में पूरी सच्चाई  सामने आ जाएगी। अनिल देशमुख पर मुंबई पुलिस के सस्पेंड पुलिसकर्मी सचिन वझे को 100 करोड़ का टारगेट देने का आरोप लगा है।

सचिन वझे और मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटक रखवाने के मामले में फंसे हैं। रविवार देर रात शरद पवार के साथ दिल्ली में एनसीपी नेताओं की बैठक के बाद जयंत पाटिल ने कहा कि अनिल देशमुख के इस्तीफे का सवाल ही नहीं उठता। एंटीलिया केस को लेकर NIA की जांच में खुलासा हुआ है कि मामले की साजिश पुलिस हेडक्वार्टर और असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर सचिन वझे के ठाणे स्थित घर पर रची गई थी।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US