Ram Niwas Garden: राम निवास बाग जयपुर शहर का ऐसे बना आकर्षण केंद्र, ऐतिहासिक उद्यान की जानें बड़ी बातें

Ram Niwas Garden राम निवास उद्यान एक ऐसा शाही उद्यान है जिसका निर्माण 1868 में जयपुर में महाराजा सवाई रामसिंह ने करवाया था। परकोटे के पास हरियाली से सुंदरता बिखेरता गार्डन हर किसी को अपनी ओर आकर्षित कर लेता है। राम निवास बाग को भारत के ऐतिहासिक स्थलों में से एक माना जाता है। यह पार्क 30 एकड़ जमीन पर फैला हुआ है जहां अल्बर्ट हॉल संग्रहालय ने इन रामनिवास उ्दयान में चार चांद लगा रखे हैं। 

ये भी पढ़ें-

Upcoming film: इस फिल्म में नजर आएंगी दीपिका पादुकोण, अमिताभ बच्चन निभा सकते हैं किरदार

रामनिवास बाग गार्डन की यात्रा कर आप यहां के हरे-भरे बगीचों को एक्सप्लोर कर सकते हैं और चिड़ियाघर थिएटर को तस्वीरों में कैद कर सकते हैं। इस उद्यान को लोकप्रिय पिकनिक स्पॉट के रूप में भी जाना जाता है। राम निवास बाग या इकोलेक्टिक गार्डन  को 1868 में महाराजा सवाई राम सिंह के शासनकाल में बनाया गया था। इसको डिज़ाइन करने के लिए कर्नल सर स्विंटन जैकब को चुना गया था। इस पार्क में रवींद्र रंग मंच थियटर एक ऐसी जगह है जहां प कोई भी शास्त्रीय संगीत प्रदर्शन, नृत्य और थिएटर समूहों में भाग ले सकते हैं।

राजस्थान का सबसे पुराना अल्बर्ट हॉल संग्रहालय जो राम निवास उद्यान के नए द्वार के सामने स्थित है। दुनिया में पहचान बना चुके अल्बर्ट हॉल को बने हुए 135 साल पूरे हो चुके हैं। राजस्थान का यह सबसे पुराना अल्बर्ट हॉल है। यह संग्रालय इंडो-सरेनिक वास्तुशैली में इसका निर्माण कराया गया। अलबर्ट हॉल को सरकारी संग्रहालय के नाम से भी जाना जाता है। इसमें विश्व के अनेक क्षेत्रों से लाए हुए कलाकृतियों का संग्रह यहां देखने को मिलता है। albert hall museum jaipur में कलाकृतियों का भंडार है। जो पर्यटकों को देखने के लिहाज से काफी दिलचस्प है।  अलबर्ट हॉल का इतिहास करीबन 150 साल प्राचीन माना जाता है। इस संग्रहालय की नींव 6 फरवरी 1876 को प्रिंसऑफ वेल्स अल्बर्ट एडवर्ड की जयपुर यात्रा के दौरान रखी गई थी। पर्यटक स्थलों में शुमार अलबर्ट हॉल को देखने देसी-विदेशी सैलानी आते हैं।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US