Sachin Vaze ने NIA कोर्ट में फोड़ा लेटर बम, एक और मंत्री पर लगे वसूली के आरोप

महाराष्ट्र में वसूली के मामले को लेकर सियासी घमासान मचा हुआ है। वसूली के नाम से उठा बवंडर थमने का नाम नहीं ले रहा है। अनिल देशमुख के बाद महाराष्ट्र सरकार के एक ओर मंत्री अनिल परब पर वसूली कराने का आरोप लगा है। एंटीलिया केस एवं मनसुख हिरने हत्याकांड में गिरफ्तार मुंबई पुलिस के निलंबित एपीआई सचिन वाझे ने एनआईए कोर्ट को पत्र लिखा है। इस पत्र के जरिय बताया गया है कि उससे अनिल देशमुख के अलावा शिवसेना कोटे के परिवहन मंत्री अनिल परब भी वसूली कराते थे।

Read More…..

Oxygen Supply: भोपाल में ऑक्सीजन की किल्लत, संकट में 100 से ज्यादा अस्पताल

अनिल देशमुख जहां बार एवं रेस्टोरेंट से वसूली के लिए कहते थे। वहीं अनिल परब ने मुंबई महानगरपालिका के ठेकेदारों से वसूली करने को कहा था। सचिन वाझे के इस पत्र से मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह द्वारा अनिल देशमुख पर लगाए गए आरोपों की पुष्टि होती दिखाई दे रही है। एनआईए कोर्ट को लिखे इस पत्र में सचिन वाझे ने बड़ा धमाका करते हुए कहा कि 6 जून 2020 को उसका निलंबन समाप्त होने के कुछ दिन पहले महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने उसे नागपुर से फोन कर कहा था कि राकांपा अध्यक्ष शरद पवार उसे फिर से निलंबित कराना चाहते हैं।

गृहमंत्री ने कहा कि यदि वह उन्हें दो करोड़ रुपए दे, तो वे शरद पवार को समझाएंगे। परमबीर सिंह ने गृहमंत्री अनिल देशमुख पर 100 करोड़ रुपये की वसूली का आरोप लगाया था। परमबीर सिंह का कहना है कि महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने निलंबित API सचिन वझे को 100 करोड़ रुपये वसूली का टारगेट दिया था। हाईकोर्ट ने गृहमंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US