मुख्तार अंसारी को झटका, SC ने कहा- दो हफ्ते में भेजें उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश के बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी के मुकदमे और कस्टडी ट्रांसफर पर सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को अपना फैसला सुनाया है। अंसारी को उत्तर प्रदेश की जेल में दो हफ्ते के अंदर शिफ्ट करना होगा। पंजाब सरकार की दलीलों से अदालत संतुष्ट नहीं थी। कोर्ट ने इस पर अपना फैसला दिया है। इसके साथ ही विशेष कोर्ट तय करेगा कि अंसारी को बांदा या इलाहाबाद किस जेल में रखा जाएगा। इससे पहले पंजाब सरकार ने रूपनगर जेल में बंद विधायक और माफिया डॉन मुख्तार अंसारी को यूपी सरकार को सौंपने से इनकार कर दिया था।

Read More…

PM Modi in Bangladesh: बांग्लादेश दौरे से क्या है बंगाल चुनाव का कनेक्शन, क्या मतुआ समुदाय का दिल जीत पाएंगे PM मोदी

इस14 आपराधिक मुकदमों के लिए यूपी सरकरा को अंसारी की कस्टडी की दरकार है। अंसारी जनवरी 2019 से पंजाब की जेल में सजा काट रहा है जहां पर उसे जबरन वसूली के मामले में नामजद कर सलाखों के पीछे धकेल दिया था। यूपी सरकरा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर कहा था कि अंसारी की अनुपस्थिति के कारण यूपी में मुकदमों की सुनवाई नहीं हो पा रही है। उत्तर प्रदेश सरकार की याचिका पर पंजाब सरकार ने सु्प्रीम कोर्ट में हल्फनामा दायर किया और अंसारी को यूपी सरकार की हिरासत में देने से इनकार किया था।

इसका एक कारण पंजाब सरकार ने अंसारी के स्वास्थ्य को बताया था। यूपी सरकार की याचिका को खारीज करने के की मांग करते हुए पंजाब सरकार ने कहा था कि वह चिकित्सकों की राय के अनुसार काम कर रही है। यूपी सरकार की याचिका में कहा था कि राज्य में अंसारी के खिलाफ गंभीर मुकदमे लंबित है लेकिन अंसारी एक छोटे अपराध के मामले में दो वर्ष से पंजाब के जेल में है।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US