Sisodia Rani Garden: रानी की याद में बनवाया था जयपुर का ये महल, अब बना प्रेम का प्रतीक

जयपुर शहर की खूबसूरती सिसोदिया रानी के बाग में छिपी है। जयपुर का एक लोकप्रिय गार्जन जो शहर से करीब 8 किलोमीट की दूरी पर स्थित है। इस गार्डन का निर्माण 1728 में राजा सवाई जयसिंह की ओर से अपनी राजनी सिसोदिया के लिए कराया गया था। इस बगीचे की वास्तुकला भारतीय और मुगल शैली में आने वाले पर्यटक भगवान कृष्ण और राधा जी की प्रेम कहानी का खूबसूरत चित्रण किया गया है।

सिसोदिया गार्डन का जानिए पूरा इतिहास

उदयपुर की रानी चंद्रकंवर सिसोदिया के नाम पर सन् 1728 में सवाई जयसिंह ने सिसोदिया रानी के बाग का निर्माण करवाया था। प्रेम की अनुठी मिसाल इस बाग की भव्यता का निखारती है। एक राजा ने उस खूबसूरत गुलिस्तां की रचा की जहां मौजूद है उनके प्रेम की दास्तां। उदयपुर की रानी चंद्रकंवर सिसोदिया के नाम पर सन 1728 में सवाई जयसिंह ने एक बाग बनवाया जो आज सिसोदिया रानी के बाग के नाम से जाना जाता है।

प्रेम गाथा का बखान करता ये बाग

महारानी जयपुर को प्रकृति से विशेष लगाव और प्रेम था। यही बड़ी वजह रही कि वे अक्सर यहां आकर प्रकृति की गोद में आराम किया करते थे और हरियाली को निहारते थे। ना सिर्फ ये बाग प्राकृतिक संपदा का एक खूबसूरत नमूना है बल्कि ये राधा-कृष्ण के प्रेम का भी प्रतीक माना जाता है। पहाड़ों के घेरे के बीच बना यह बाग अपनी सुंदरता और बनावट के कारण आज पर्यटकों का मुख्य स्थल बन गया है। मुगल आर्किटेक्टर पर बने इस बाग को फलदार पेड़ों और क्यारी बगीचों से खूबसूरती से सजाया गया है।

Read More….

Sachin Vaze ने NIA कोर्ट में फोड़ा लेटर बम, एक और मंत्री पर लगे वसूली के आरोप

सुंदरता का प्रतीक है सिसोदिया का ये बाग

पर्यटकों के लिए जयपर के किलों की थका देने वाली यटात्रा के बाद यहां ना सिर्फ प्राकृतिक सौंदर्य निहारने को मिलता है बल्कि सदियों से बहती आ रही प्रेम पवन से सरोबाह होने का एक अवसर भी मिलता है। सिटी पैलेस के पथी खाना की डायरेक्टर डॉ चतंद्रमणि का कहना है कि जब महारानी चंद्रकंवर जयपुर की राजमाता बनी। तब उनके बेटे महाराजा माधवसिंह जयपुर के नए राजा नियुक्त हुए थे। वो अपनी मांग के प्रकृति प्रेम से भलीभांती वाकिफ थे। इसकी वजह से उन्होंने राजमाता के लिए मांजी के बाग का निर्माण करवाया था जहां आज राजमहल पैलेस होटल स्थापित है।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US