Coronavirus संकट पर नेशनल प्लान बताएं केंद्र, सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा ये सवाल

देश के अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की कमी से सरकार की सांसे फूल रही है। मरीजों को ऑक्सीजन नहीं मिलने से कई जिंदगियां सांसत में है। कोरोना वायरस की दूसरी लहर से स्वास्थ्य व्यवस्थाएं डगमाने से सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को सुनवाई हुई। SC ने केंद्र सरकार से पूछ कि कोरोना संकट से निपचने के लिए अपना नेशनल प्लान क्या है? क्या कोविड19 वैक्सीनेशन ही मुख्य विकल्प बचा है?

Read More…..

Lockdown in Karnataka: कर्नाटक में 14 दिनों का लॉकडाउन, जरूरी सेवाओं की छूट, सार्वजनिक परिवहन बंद

सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट कहा कि हमें लोगों की जिंदगियां बचाने की जरूरत है। जब भी हमें जरूरत महसूस होगी हम दखल देंगे। राष्ट्रीय आपदा के समय मूकदर्शक नहीं बने रह सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से सवाल किया है कि ऑक्सीजन की सप्लाई को लेकर केंद्र को मौजूदा स्थिति स्पष्ट करनी होगी। कितनी ऑक्सीजन है और राज्यों की कितनी जरूरत है?   गंभीर होती स्वास्थ्य जरूरतों को बढ़ाया जाए। कोविड बेड्स भी बढ़ाए जाएं।

बता दें कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच कई राज्यों में ऑक्सीजन को लेकर हाहाकार मचा है। जीवन की रक्षा के लिए ऑक्सीजन गैस कोविड के खिलाफ लड़ाई में एक महत्वपूर्ण घटक है। ऑक्सीजन कोविद -19 के मरीजों के अस्पताल के बेड तक ले जाया जाता है। पिछले दिनों से ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं होने से लाखों लोगों की जान सांसत में है। हमेशा कोई व्यक्ति ऑक्सीजन के लिए रोता रहता है। अस्पताल मे ऑक्सीजन की कमी होती जा रही है। जिसकी वजह से लाखों लोगों की जिन्दगी खतरे मे है।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US