Covid 19: रांची में शवों की कतारें, श्मशान में शव जलाने के लिए कम पड़ी जगह तो

रांची में कोरोना से होने वाली मौतों ने सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले हैं। पिछले 10 दिनों में रांची के श्मशान और कब्रिस्तान में अचानक शवों के आने में बढ़ोतरी हुई है। रविवार को रिकॉर्ड 60 शवों का अंतिम संस्कार किया गया। इनमें से 12 शव कोरोना संक्रमितों के थे। इनका अंतिम संस्कार घाघरा में सामूहिक चिता जलाकर किया गया। इसके अलावा 35 शव पांच श्मशान घाटों पर जलाए गए। 13 शवों को कांटाटोली और रातू रोड कब्रिस्तानों में दफनाया गया।

Read More……

Covid 19 Vaccination: कहां हुई टीके की बर्बादी, किस राज्य को मिले कितने वैक्सीन डोज

एक दिन में मृतकों की संख्या अचानक से इतनी हो गई कि श्मशान घाटों में शवों को जलाने के लिए जगह तक कम पड़ गई। इससे लोगों को घंटो तक इंतजार करना पड़ा। फिर भी जगह नहीं मिल पाई तो लोगों ने खुले में शवों को जलाया। हालात ऐसे बन गए कि देर शाम मुक्तिधाम में कई लोग शव लेकर अपनी बारी का इंतजार करत दिखे। कोरोना से मौत का आंकड़ा अचानक बढ़ा तो हरमू मोक्षधाम में शव जलाने वाली दोनों मशीनें खराब हो गई। गैस से चलने वाली ये मशीने जरूरत के हिसाब से गरम नहीं हो पाई।

दोपहर दो बजे तक वहां कोरोना संक्रमित 12 शवों की कतार लग गई। बता दें कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर का प्रकोप देश के कई राज्यों में फैला हुआ है। पिछले 24 घंटे के दौरान देश में कोरोना मामलों ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। कोरोना देश में अपना प्रकोप बरपा रहा है। महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। कोरोना के नए मामले इतनी तेजी के साथ बढ़ रहे हैं कि इस समय सरकारों की टेंशन बढ़ गई है।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US