Trending: जितिन प्रसाद की एंट्री से ब्राह्मण वोटरों पर दांव लगागी बीजेपी? ट्विटर पर #JitinPrasad चल रहा ट्रेंड

कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए जितिन प्रसाद को ब्राह्मण वोटों के लिहाज से देखा जा रहा है। एक समय में ब्राह्मणों का बड़ा वोट बैंक हासिल करने वाली बीजेपी इन दिनों इस समुदाय को लुभाने में जुटी है। जब योगी सरकार के गठन के बाद से ही ब्राह्मणों की उपेक्षा के आरोप लगते रहे हैं। ऐसे में जितिन प्रसाद को पार्टी में शामिल कर बीजेपी एक बड़ा संदेश देने की कोशिश में है।

Read More……

Monsoon 2021: मुंबई में मानसून की दस्तक, कई इलाकों में भरा पानी, 14 राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट

उत्तर प्रदेश में 2022 में विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं। इसके चलते बीजेपी अभी से चुनावी तैयारी में लगी है। ऐसे में जितिन प्रसाद की एंट्री ब्राह्मण वोटरों को साधने का दांव माना जा रहा है। बीजेपी अब जितिन प्रसाद को यूपी में ही कोई अहम जिम्मेदारी दी जा सकती है। सवाल है कि आखिर बिरादरी को लुभाने के लिए बीजेपी को जितिन प्रसाद की जरूरत क्यों पड़ी। यूपी में 14 फीसद आबादी वाले वोटर ब्राह्मण बीजेपी से नाराज चल रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार के कई फैसलों सो यूपी के ब्राह्मणों की बीजेपी से नाराजगी खुलकर सामने आ चुकी है।

ब्राह्मणों की नराजगी का असर 2022 विधानसभा चुनाव पर पड़ सकता है। बीजेपी अपने इस ब्राह्मण वोट बैंक को अपने पाले से निकलने नहीं देना चाहती है। जितिन प्रसाद कांग्रेस में राष्ट्रीय सचिव के पद पर रह चुके हैं तो यूपीए सरकरा में केंद्रीय मंत्री थे। जितिन प्रसाद को कांग्रेस पार्टी ने अहम पद दिए हों लेकिन आज उनको दरकिनार करते हुए बीजेपी में शामिल हो गए। ऐसे में वे बीजेपी को फायदा पहुंचाने वाले चेहरे हो सकते हैं।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US