Covishield की दो खुराकों के बीच का बढ़ा अंतराल, क्यों बदली केंद्र ने गाइडलाइन?

केंद्र सरकार ने Covishield की 2 खुराकों के बीच के अंतराल को बढ़ा दिया है। यह फैसला एक्सपर्ट ग्रुप की रिपोर्ट के आधार पर लिया गया। नेशनल टेक्निकल एडवायजरी ग्रुप ऑन इम्यूनाइजेशन (NTAGI) और नेशनल एक्सप्रट ग्रुप (NEGVAC) ने वैक्सीन के क्लीनिक ट्रायल से मिले वैज्ञानिक तथ्यों के आधार पर कहा कि अंतराल बढ़ाने से वैक्सीन की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है। दोनों ग्रुप की रिपोर्ट को आधार बनाते हुए सरकार ने कोविशील्ड की दूसरी डोज को पहले डोज के बाद 6-8 हफ्ते के अंतराल पर लागने को लेकर नई गाइडलाइन जारी की है। इससे पहले यह अंतराल 4-6 हफ्तों का था।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने NTAGI और NEGVAC के सुझावों को मान लिया है। केंद्र शासित प्रदेशों को यह सुनिश्चित करने का सुझाव दिया है कि लाभार्थियों को कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी डोज पहली डोज के 6-8 हफ्ते बाद के इस निर्धारित समय अंतराल के बीच लगाई जाए। हेल्थ सेक्रेटरी राजेश भूषण ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखा। पत्र में कहा अंतराल 8 सप्ताह से ज्यादा बढ़ाया जाता है तो वैक्सीन असरदार नहीं रहेगी।  

Read More….

IAS Nidhi Nivedita: महिला कलेक्टर ने BJP कार्यकर्ता को जड़ा था थप्पड़, जानिए IAS निधि निवेदिता की कहानी

NTAGI के डॉ. एनके अरोड़ा के अनुसार, अंतराल को 8 सप्ताह से ज्यादा बढ़ाने का कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है। भारत में वैक्सीन की पर्याप्त मात्रा उपलब्ध है। उनका कहना है कि हमें नहीं लगता कि भारत में दो खुराकों के बीच का अंतराल 8 सप्ताह से ज्यादा करना उचित है।डॉ अरोडा कहते हैं कि अगर कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी डोज 6-8 हफ्तों के बीच लगाई जाए तो सुरक्षा बढ़ जाती है लेकिन यह 8 हफ्तों की निर्धारित अवधि के बाद नहीं होना चाहिए। 

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US