Covid19 India: जेलों में कम करें भीड़, सुप्रीम कोर्ट ने कैदियों को रिहा करने के दिए आदेश

कोरोना की दूसरी लहर से बढ़ते संक्रमण को लेकर सुप्रीम कोर्ट भी चिंतित है। शनिवार को सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान लेते हुए जेलों में भीड़ कम करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही कहा कि कैदियों को पिछले साल महामारी के मद्देनजर जमानत या पेरौल पर दी गई थी। उन्हें फिर से वह सुविधा दी जाए।  चीफ जस्टिस एनवी रमन्ना की तीन जजों की पीठ ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में उच्चाधिकार प्राप्त समितियां बनाई गई थीं।

Read More……

Coronavirus India: गोवा में 9 से 23 मई तक राज्यव्यापी कर्फ्यू, सीएम सावंत का ऐलान

पिछले साल मार्च के महीने में इन समितियों ने जिन कैदियों को जमानत की मंजूरी प्रदान की थी उन सभी को पुनर्विचार के बिना वह राहत दी जाए। इससे कोरोना महामारी के संक्रमण को फैलने से रोका जा सकेगा। उच्चतम न्यायाल की वेबसाइट पर शनिवार को अपलोड हुए आदेश में कहा गया है कि जिन कैदियों को हमारे पूर्व के आदेशों पर पैरोल दी गई थी उन्हें कोरोना महामारी को रोकने की कोशिश के हतत दोबारा 90 दिनों की अवधि के लिए पैरोल दी जाए।

सुप्रीम कोर् के एक फैसले का हवाला देते हुए अधिकारियों कहा गया है कि उन मामलों में गिरफ्तारी से बचें जिनमें अधिकम सजा सात वर्ष की अवधि है। देश में कोरोना की दूसरी लहर का खतरनाक होती जा रही है। भारत में पिछले 24 घंटे में 4 लाख 1 हजार 228 नए मामले सामने आए हैं और 4,191 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। इस घातक संक्रमण से एक दिन में जान गंवाने वालों का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है। राहत की बात ये है कि 3 लाख 19 हजार 469 मरीज रिकवर हुए हैं।

खबरों से अपडेट रहने के लिए BADHTI KALAM APP DOWNLOAD LINK: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.badhtikalam.badhtikalam&hl=en&gl=US